अनोखा घर.. कमरे राजस्थान में तो आंगन हरियाणा में | अनोखा घर.. कमरे राजस्थान में तो आंगन हरियाणा में | Unique house.. rooms in Rajasthan and courtyard in Haryana

एक मकान , एक परिवार : घर में चलते 2 राज्यों के कानून , दोहरे कोरोना गाइडलाइन का पालन 

अनोखा घर.. कमरे राजस्थान में तो आंगन हरियाणा में |  अनोखा घर.. कमरे राजस्थान में तो आंगन हरियाणा में | Unique house.. rooms in Rajasthan and courtyard in Haryana

राजस्थान हरियाणा सीमा पर एक अनोखा घर है। जिसके कमरे राजस्थान में और आंगन हरियाणा में स्थित है। इस कारण यह दो राज्यों की कोरोनावायरस  की पालना की जा रही है। यह परिवार इस क्षेत्र में 1960 से रह रहा है। इस परिवार में चाचा हरियाणा के मूल निवासी है तो उनका भतीजा राजस्थान का। 

दायमा परिवार के इस अनोखे घर का राजस्थान वाला हिस्सा भिवाड़ी की भगत सिंह कॉलोनी में स्थित है। वही हरियाणा की ओर का हिस्सा सोहना रोड धारूहेड़ा में स्थित है। इसके कमरे राजस्थान के अलवर जिले में दो आंगन हरियाणा के रेवाड़ी जिले में है। दोनों राज्यों की सीमा घर के बीच से गुजरती है। करीब 5 साल पहले इस घर में तेंदुआ घुस आया था उस समय वन विभाग भी चकरा गया था कि आखिरकार सरिस्का से वन विभाग की टीम ने तेंदुए का रेस्क्यू किया। 
एक बार भैंस चोरी होने पर परिवार को दोनों राज्यों की पुलिस के चक्कर काटने पड़े थे। 

26 साल पहले खरीदा था प्लाट

राजस्थान निवासी हवा सिंह दायमा भिवाड़ी नगर परिषद में पार्षद है और उनका चाचा कृष्ण दायमा हरियाणा की धारूहेड़ा नगर पालिका में पार्षद रह चुके हैं। हवा सिंह दायमा ने बताया कि क्षेत्र में 1960 से रह रहे हैं लेकिन 1996 में प्लाट खरीदा था जो आधा हरियाणा सीमा में था और आधा राजस्थान में। यहीं पर घर बना लिया जिसमें परिवार मिलजुल रहता है उन्होंने यह सामान्य लगता है लेकिन जो भी मकान के बारे में सुनता है वह हैरान हो जाता है। 

परिवार चुनता है 2 राज्यों की सरकार

दायमा परिवार के कुछ सदस्यों के आधार कार्ड वह मूल दस्तावेज राजस्थान के है तो कुछ सदस्यों के हरियाणा के हैं परिवार के 6 सदस्य राजस्थान में मतदाता है और 6 सदस्य हरियाणा में सरकार चुनते हैं 
इस घर में कभी नेटवर्क राजस्थान का मोबाइल नेटवर्क आता है कभी हरियाणा का। 

परिवार के आधे सदस्य राजस्थानी और आधे हरियाणवी

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ