जयपुर में फूटा ओमिक्राॅन वेरिएंट का बम, एक साथ मिले 9 मरीज

 स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप : सभी मरीज ऐसे एसिंप्टोमेटिक

थर्मल स्कैनिंग करता स्वास्थ्य कर्मी



राजस्थान में कोरोना के नए  वेरिएंट का बम फूट गया है। जयपुर में रविवार को 9 लोगों में इसकी पुष्टि से हड़कंप मच गया है। देश में एक ही राज्य में पहली बार एक साथ इतने मरीज मिले हैं  हालांकि चिकित्सा विभाग के अनुसार सभी संक्रमित स्वस्थ है। जयपुर की s.m.s. मेडिकल कॉलेज के बाद पूना की लैब में भी इन मरीजों में वेरिएंट की पुष्टि हुई है। 


21 को दक्षिण अफ्रीका से रवाना हुआ था परिवार

दक्षिण अफ्रीका से उक्त परिवार 21 नवंबर को रवाना हो गया था। यह दुबई होते हुए 25 नवंबर को जयपुर पहुंचा। परिवार के पास सभी जगह की नेगेटिव रिपोर्ट भी है। आश्रय है कि इनमें नेगेटिव होने के बाद यहां संक्रमित पाए गए हैं। और इनमें दक्षिण अफ्रीका में मिले ओमिक्राॅन की पुष्टि हुई है। नेगेटिव रिपोर्ट को देखते हुए चिकित्सा विभाग भी डेल्टा वेरिएंट के दावे कर रहा था। 


पांच आर यू एच एस में शिफ्ट

s.m.s. मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य एवं नियंत्रक डॉ सुधीर भंडारी के अनुसार दक्षिण अफ्रीका से आए परिवार को पहले ही आर यू एच एस हॉस्पिटल में शिफ्ट कर चुके हैं। अन्य जनता कॉलोनी शास्त्रीनगर निवासी परिवार के पांच सदस्यों को भी वैरीएट की पुष्टि होने के बाद शिफ्ट कर दिया गया है। सभी संक्रमित की स्थिति सामान्य है। और यह एसिंप्टोमेटिक हैं।


 इनमें में सबसे पहले एक बुजुर्ग संक्रमित मिला था उसके बाद जांच में सभी पॉजिटिव पाए गए। सभी एक शादी में शरीक हुए उनमें इनके संपर्क में आए लोगों के भी सैंपल लिए जा रहे हैं। दिल्ली सरकार को भी पत्र लिखा है यहां इन चारों लोगों के संपर्क में आए 5 लोगों में भी ओमिक्राॅन की पुष्टि हुई है। 

1 से 5 दिसंबर तक

  1. 1 दिसंबर को जनता कॉलोनी निवासी एक व्यक्ति कोरोनावायरस पॉजिटिव पाया गया। इसके बाद उसके अन्य परिजन के सैंपल लिए गए जिनमें चार सदस्य संक्रमित मिले। 
  2. उनकी कांटेक्ट ट्रेसिंग से पता चला कि वह दक्षिण अफ्रीका से जयपुर आए  दादी की फाटक में रह रहे हैं। एक परिवार से संपर्क में भी आए हैं। 
  3. गुरुवार को उस परिवार के भी सैंपल लिए गए उनमें कोरोना की पुष्टि हुई। इसके बाद उनको आर यू एच एस अस्पताल में भर्ती कराया गया। 
  4. इस बीच सभी नो शंकर संक्रमितों कि जीनोम भी  कराई गई। रविवार शाम मिली रिपोर्ट में सभी में कोरोना के नए वेरिएंटओमिक्राॅन की पुष्टि हुई है। 


अभी निगरानी जरूरी

चिकित्सा - शिक्षा विभाग के सचिव वैभव गालरिया ने बताया कि संक्रमित ठीक है नए वेरिएंट को लेकर विदेश से आ रहे लोगों की बुरी तरह निगरानी की जाए

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ