दो बालिकाओं को अमेरिका दंपतियों ने लिया गोद

अनाथ को मिले 'नाथ' अमेरिकी दंपति ने थामा हाथ



विधाता की  सौगात को अस्वीकार करें जिन नन्ही परियों को अनाथ आश्रम के पालने में छोड़ दिया , उसे किस्मत में अमेरिकी दंपतियों की पुत्री बना दिय। दो नन्ही परियों चौपासनी हाउसिंग बोर्ड स्थित नवजीवन संस्थान पहुंच चुकी थी और उनका वजन कम था और बीमार थी। अमेरिकी दंपति जस्टिन लुके  वाइज मैन व मैगन मारी वाइज मैन  ने जब इंटरनेट पर 2 साल की बालिका  को देखा तो उसे अपने बेटी बनाने का निश्चय किया। 

अंतरराष्ट्रीय दत्तक ग्रहण कानून के तहत निर्धारित प्रक्रिया व मापदंड पूरे करने के बाद अमेरिकी दंपत्ति को नवजीवन संस्था में बालिका सौंप दी गई। अमेरिका निवासी टेलर रोज एंडरसन व एलोन जे एलोन ने डेढ़ वर्षीय बालिका को गोद लेकर पालन-पोषण की जिम्मेदारी ली दोनों ही दंपति अमेरिका में बड़े व्यवसाई है। 

दोनों ही अपरिपक्व और बीमार थी

दोनों बालिकाएं अफ्रीका को बीमार और कम वजन की थी। इस कारण उन्हें विशेष बालिका की श्रेणी में रखा गया था जिन्हें अमेरिकन दंपति ने गोद लिया। दोनों दंपतियों के पहले से ही दो दो पुत्र है लेकिन उनका मानना है कि बेटी के बिना परिवार पूरा नहीं होता। 

अब तक 1430 बालक बालिकाओं को दिया गोद


नवजीवन संस्थान के संचालक राजेंद्र परिहार बताते हैं कि इस दिसंबर माह में नवजीवन समझता कि एक बालिका को बड़ौदा निवासी निखिल उत्तमराव ने और एक बालिका को अलवर निवासी प्रदीप कुमार प्रजापति ने गोद लिया है। अब तक संस्थान के 1430 बालक बालिकाओं को गोद दिया जा चुका है। महिला एवं बाल विकास मंत्रालय के अध्यक्ष सेंट्रल एडॉप्शन रिसोर्स अथॉरिटी के माध्यम से इंटर कंट्री एडॉप्शन की प्रक्रिया पूरी होती है। इसे भारतीय निवासियों के लिए अनाथ गोद बच्चा लेने की प्रक्रिया अलग सख्त जांच प्रक्रिया के गुजरने के बाद 32 तरह के डाक्यूमेंट्स सोपने के बाद बच्चा गोद दिया जाता है। 

Read more...

2 साल बाद सोनिया गांधी करेगी जनसभा

आखिरी बार हरियाणा चुनाव में क्या था प्रचार


कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी करीब 2 साल बाद जयपुर में 12 दिसंबर को जन रैली को संबोधित करती दिखेगी। इसके लिए कांग्रेस व्यापक स्तर पर तैयारियां कर रही है। कांग्रेस के केंद्र सरकार को घेरने के लिए संसद से सड़क तक सियासी लड़ाई को धार देने की रणनीति बना रही है। जयपुर में होने वाली महंगाई हटाओ रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शामिल होगी। 
इससे पहले उन्होंने आखिरी बार हरियाणा के विधानसभा चुनाव के दौरान रैली की थी। इसके बाद असम , पश्चिम बंगाल , केरल , तमिलनाडु और पुडुचेरी में विधानसभा चुनाव हुए। लेकिन कोविड-19 के चलते इन्होंने प्रसार से खुद को दूर रखा 

लगातार दिखा रही सक्रियता : 

राज्यसभा सांसद कपिल सिब्बल के आरोपों के पास होने गांधी ने पिछले दिनों कांग्रेस कार्यकारिणी समिति की बैठक में खुद को पूर्णकालिक सक्रिय अध्यक्ष होने का दावा किया था। इसके बाद वह लगातार सक्रिय भी दिखी। पंजाब राजस्थान व छत्तीसगढ़ के सियासी उलझन दूर करने के फैसलों में सोने की छाप भी नजर आई। इन दिनों वे संसद के शीतकालीन सत्र में भी सक्रिय हैं। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ