दूल्हे को घोड़ी से उतारा, रोष || The groom got off the mare, fury

 नरेना के जसुपुरा का मामला, पहुंची पुलिस, असामाजिक तत्वों द्वारा की गई शर्मसार घटना। 

दूल्हे को घोड़ी से उतारने के कारण समाज में रोष

 नरेना के जसुपुरा का मामला


जयपुर के नरेना गांव के गैजी पंचायत के जसुपुरा ग्राम में रविवार रात दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला सामने आया है। इससे लोगों में आक्रोश व्याप्त हो गया। बाद मे दूदू सीओ अशोक चौहान, फुलेरा थाना प्रभारी रघुवीर सिंह राठौड़, नरेना थाना प्रभारी हनुमान सहाय यादव, पुलिस प्रशासन के साथ वहां पर पहुंचे व समझाइश कर लोगों को शांत किया। 


Table of contents(toc)


बाद में निकासी मुख्य मार्ग से निकलवाई गई। नरेना थाना प्रभारी यादव ने बताया कि गांव मैं गोवर्धन बलाई की पुत्री व पुत्र की शादी है। रविवार को किशनपुरा से बेटी की बारात जसुपुरा पहुंची तो यहां पर दूल्हे को कुछ लोगों ने घोड़ी से उतार दिया। तथा दूल्हे को अपमानित कर मारपीट की। वही दूसरे दिन गोवर्धन के बेटे की शादी में गड़बड़ी की आशंका पर परिजनों ने नरेना थाने में मामला दर्ज करवाया। 

सोमवार शाम 3:00 बजे पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में गोवर्धन के बेटे की निकासी निकाली गई। दूदू सीओ ने बताया कि जसुपुरा ग्राम में दूल्हे को घोड़ी से उतारने का मामला दर्ज कर लिया गया है। 

Read Also....


रुक नहीं रहा है पक्षियों के मौत का सिलसिला, रिपोर्ट से मचा हड़कंप


पांचवे दिन भी मृत मिले पक्षी : बर्ड फ्लू की पुष्टि से पक्षी प्रेमी मायूस


सांभर लेक : सांभर में सोमवार को पांचवें दिन भी मृत पक्षियों के मिलने का सिलसिला जारी रहा। अलग-अलग जगह पर 7 पक्षी मृत मिले पाए गए। वन विभाग के अधिकारी ने बताया कि आज 5 कोए मृत अवस्था मिले एवं एक मैना घायल अवस्था में मिली तथा एक रूफोक्स ट्रिपाई  नामक घायल चिड़िया मिली। स्थानीय विष्णु ,  राकेश अग्रवाल ने बताया कि लगातार पक्षियों के मरने का सिलसिला जारी है। 


डब्ल्यू सीओ के संस्थापक ओम प्रकाश सेन ने बताया कि रोशन कुमावत व मनीष आदि ने सांभर में पूरी सजगता से पक्षियों की वाचिंग की   वन विभाग से मिली सूचना के अनुसार जो मेना घायल मिली थी वह भी उपचार के दौरान नहीं बच पाई। सोमवार को आधा दर्जन से अधिक मृत पक्षी मिलेगी। 

सोमवार देर शाम को आई रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। सांभर सहित आसपास के लोगों को आशंका थी कि कहीं इन पक्षियों की मौत का कारण बर्ड फ्लू नहीं हो। लेकिन रिपोर्ट आने के बाद पक्षी प्रेमियों में भी मायूसी छा गई। गौरतलब है कि बर्ड फ्लू खतरनाक बीमारी है। जो पक्षियों में फैलने के बाद इंसानों को भी संक्रमित कर सकती है। अब लोगों को और अधिक सतर्क रहने की आवश्यकता है। 


जिससे संक्रमण को रोका जा सके। हालांकि रिपोर्ट आने के बाद वन कर्मियों में भी हड़कंप मच गया। इसके बारे में सांभर लेक नगर पालिका के पार्षद आशीष गर्ग का कहना है कि सांभर में पक्षियों में पाई जाने वाली बीमारी बर्ड फ्लू पाई गई है तो सांभर झील के पक्षियों की सुरक्षा के सरकार को पुख्ता इंतजाम करने की आवश्यकता है।

 जिससे झील में आने वाले प्रवासी पक्षियों की सुरक्षा की जा सके और यह संक्रमण लोगों तक ना पहुंचे। इसके लिए भी इंतजाम जरूरी है। अभी तक विभाग की ओर से किए गए इंतजाम पक्षियों के बचाव के लिए नाकाफी है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ