गिरफ्त में संधि गत कबूतर, पाकिस्तान से आने की आशंका।

गिरफ्त में संधि का कबूतर, पंखों पर लिखे हैं विदेशी भाषा में कोड। 



थाने में  शांत कैदी की तरह बैठा है परिंदा। 

पाकिस्तान से आने की आशंका


एक एसआई और सिपाही कबूतर की सुरक्षा में तैनात। 
कहते हैं कि किसी जमाने में कबूतर संदेशवाहक हुआ करते थे ऐसा ही एक कबूतर इन दिनों बहरोड़ पुलिस की गिरफ्त में है। 
एक एसआई और सिपाही कबूतर की सुरक्षा में तैनात है। आशंका है कि यह कबूतर पाकिस्तान से आया है जानकारी के अनुसार 3 दिन पहले रविवार शाम को क्षेत्र के कुरेली में एक युवक पर एक कबूतर आकर बैठ गया। दोनों पंजों पर टेप लगे थे और कबूतर विदेशी था। जिसको देखने के बाद ग्रामीणों ने सूचना पुलिस को दी। सूचना के बाद थाना प्रभारी कबूतर को बहरोड ले आए और उच्च अधिकारियों व वन विभाग को सूचना दी। पुलिस को शक है कि यह कोई जासूस या सीमा पार से कोई मैसेज हो सकता है या फिर इसके शरीर में कोई चिप लगी हो सकती है। पुलिस अधिकारियों ने आशंका जताई है कि आतंकवादी और ड्रग्स माफिया सीमा पार से मैसेज भेजने के लिए कबूतरों का इस्तेमाल करते आए हैं। सीमा क्षेत्र में तो ऐसे पक्षियों को अक्सर पकड़े जाने की चर्चा जाती है क्षेत्र में ऐसा पहला मामला है। 

वन विभाग को दी सूचना। 

कबूतर के पंजों पर किसी विदेशी भाषा में कई अंकों की संख्या और कोई कोड प्रिंट लिखे हुए हैं। अधिकारियों के मुताबिक कबूतर किसी का पालतू भी हो सकता है या फिर पाकिस्तान से रास्ता भटक कर आ गया है। परिंदे को लेकर विभाग को सूचित किया गया है आगे की कार्रवाई विभागीय स्तर पर होगी। 

उच्च अधिकारियों को अवगत कराया गया। 

सारे मामले से उच्च अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है मिलिट्री एजेंसी अधिकारियों से भी उच्च अधिकारी संपर्क कर रहे हैं आगे से दिशा निर्देश मिलने तक कबूतर को पूरी देखरेख कर थाने में रखा गया है। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ