आज भारत आएगी पाक से अटकी 2 दुल्हन।

 आज भारत आएगी पाक से अटकी 2 दुल्हन। 



महिला दिवस पर ससुराल में पहला कदम। 


सीमावर्ती बाड़मेर व जैसलमेर की दो दुल्हन ने महिला दिवस पर पहली बार भारत आएगी। पुलवामा की घटना और एयर स्ट्राइक के बाद तनाव बढ़ने से पाकिस्तान इन्हें वीजा नहीं दे रहा था। पत्रिका का, लादो इनके चांद, रह गए पाकिस्तान, अभियान रंग लाया और केंद्रीय कृषि मंत्री राज्यमंत्री कैलाश चौधरी की पैरवी के बाद महिला दिवस पर दोनों दुल्हनों को अपने ससुराल भारत में कदम रखने का अवसर मिला। 
यह दुल्हनिया वाघा बॉर्डर से सोमवार को आएगी। जिन्हें देने परिजन पहुंच गए हैं। 
जैसलमेर के बईया गांव के नेपाल सिंह और विक्रम सिंह व गिराब के महेंद्र सिंह के शादी पाकिस्तान के अमरकोट वह सिणोई मैं वर्ष 2019 में हुई थी। तीनों थार एक्सप्रेस से पाकिस्तान गए और वहां अमरकोट व सिणोई मैं ब्याह हुआ। दुल्हन के साथ भारत लौटे की तैयारी कर रहे थे कि पुलवामा की घटना और उसके बाद एयर स्ट्राइक हो गई। 

भारत-पाक के बीच चलने वाली थार एक्सप्रेस बंद करने का निर्णय हो गया। आखिर तीनो दूल्हे तो लौट आए लेकिन दुल्हनों को वीजा नहीं मिला। वे पाकिस्तान में ही रह गई। राजस्थान पत्रिका नहीं है मामला उठाए तो केंद्रीय मंत्री व गृह मंत्रालय और पाकिस्तान दूतावास से पत्र व्यवहार किया। 


यह दोनों दुल्हन ए आएगी। 


पाक ने दो दुल्हनों को भारत भेजने की इजाजत दे दी है। अब जैसलमेर के बईया गांव के नेपाल सिंह की पत्नी कैलाशबाई और गिराब गांव के महेंद्र सिंह की पत्नी छगनबाई सोमवार को महिला दिवस पर वाघा बॉर्डर आएगी। जनवरी 2019 में पाक में शादी होने के बाद इन दुल्हनों का भारत में यह पहला कदम होगा। 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ